Mandarin : Chinese Bhasha Me Career Kaise Banaye – चीनी भाषा में Jobs के मौके

Mandarin : Chinese Bhasha Me Career Kaise Banaye – Chini Bhasha Kaise Sikhe in Hindi : Jobs Opportunities in Mandarin in India & China 2021 : दोस्‍तों, आज हम एक ऐसी भाषा के बारे में बात करने जा रहे हैं। जिस भाषा को सीख कर कोई भी व्‍यक्ति एक अच्‍छा Career बना सकता है।

इस भाषा का सीधा संबंध हमारे पड़ोसी देश चीन से है। चीन एशिया का तेजी से विकसित होता हुआ राष्‍ट्र है। यहां जो भाषा लिखी व बोली जाती है। उसका नाम Mandarin यानि Chinese Bhasha है।

Chini Bhasha को दुनिया सबसे कठिन भाषाओं में से एक माना जाता है। इसका सबसे बड़ा कारण Chinese Language Ki Lipi है। जिसे समझना आसान नहीं है। इस भाषा की लिपि के कारण इस भाषा को सीखने की इच्‍छा रखने वाले लोग हतोत्‍साहित हो जाते हैं।

लेकिन यदि आपको जीवन में तरक्‍की करनी है। अपने लिये एक अच्‍छा कैरियर बनाना है, तो आपको Chinese Bhasha Bolna Sikhna ही होगा।

चीन दुनिया एक प्रमुख उत्‍पादक तथा व्‍यापारिक देश के रूप में उभर चुका है। पूरी दुनिया के बाजारों में उसके बनाये गये उत्‍पाद छाये हुये हैं। इसका अर्थ यह है, कि वहां बहुत Job Opportunities हैं।

Chinese Bhasha क्‍या है? What is Mandarin Language in Hindi

Mandarin - Chinese Bhasha Me Career Kaise Banaye - Chini Bhasha Kaise Sikhe in Hindi - Jobs Opportunities in Mandarin in India & China 2020 : दोस्तों, आज हम एक ऐसी भाषा के बारे में बात करने जा रहे हैं। जिस भाषा को सीख कर कोई भी व्यक्ति एक अच्छा Career बना सकता है।

Chini Bhasha Kya Hai in Hindi : दोस्‍तों, चीन में बोली जाने वाली भाषा को Chinese Bhasha (Mandarin) कहा जाता है। चीन में अधिकांश लोग इसी भाषा को बोलते व समझते हैं। मंदरिन भाषा को प्रयोग करने वाले लोग उत्‍तरी तथा साउथ वेस्‍टर्न चीन में निवास करते हैं।

चीनी भाषा में कुल 54,678 लिपि चिन्‍ह हैं। यह लिपि चिन्‍ह एक विशेष प्रकार के ब्‍लॉक्‍स में लिखे जाते हैं। जिन्‍हें समझना और फिर उसे पढ़ना आसान नहीं होता है। हालांकि इस भाषा को सीखना चीनियों के लिये बहुत आसान है क्‍योंकि Chinese Bhasha का जन्‍म वहां हुआ है। बच्‍चे जन्‍म के बाद समझदार होते ही इस भाषा को समझना व पढ़ना लिखना सीखना शुरू कर देते हैं। जिसकी वजह से उनके लिये यह एक बहुत ही आसान भाषा बन जाती है।

लेकिन यदि हम भारतीय संदर्भ में बात करें तो किसी भी भारतीय छात्र को इस भाषा को सीखने के लिये कड़ी मशक्‍कत करनी पड़ती है। भारत में इस भाषा के कुल 54,678 लिपि चिन्‍हों में से कम से कम 5000 लिपि चिन्‍हों को सीखना अनिवार्य किया गया है। ताकि छात्र Chinese Bhasha को अच्‍छी तरह बोल व समझ सकें।

Also Read :

भारतीय छात्रों को Chinese Bhasha (Mandarin) क्‍यों सीखनी चाहिये?

जैसा कि हम सब जानते हैं कि चीन अमेरिका के बाद दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्‍यवस्‍था वाला देश बन चुका है। वर्तमान समय में भारत और चीन के बीच 100 अरब डॉलर से अधिक कीमत का व्‍यापार हो रहा है। जो आने वाले समय में और विशाल हो जाएगा।

चीनी कंपनियां भारतीय बाजार में प्रवेश कर रही हैं। इसके अलावा भारत की कंपनियां भी चीन में अपने कारखाने लगा रही हैं। ऐसे में Chinese Bhasha को जानने वाले लोगों की दोनों देशों में डिमांड बढ़ रही है।

आपकी जानकारी के लिये यह बताना आवश्‍यक है, कि चीन में भारत की तरह अंग्रेजी भाषा को उतना महत्‍व नहीं दिया जाता है। चीन ने अपना पूरा विकास अपनी भाषा को तरजीह देकर किया है। ऐसे में Mandarin to Hindi व Hindi to Mandarin Translators  की मांग बहुत अधिक बढ़ गयी है।

चीन से व्‍यापार करना है तो Chinese Bhasha (Mandarin) सीखनी होगी

चीनी भाषा (Mandarin) सीखना चीन के साथ व्‍यापार करने की पहली शर्त है। क्‍योंकि बिना बातचीत के किसी भी व्‍यापारिक सौदे को अंजाम देना संभव नहीं होता है।

यही वजह है कि व्‍यापार करने के लिये Chini Bhasha का ज्ञान अनिवार्य हो गया है। चूंकि इस भाषा के जानकारों की भारी डिमांड निकल रही है, ऐसे में कैरियर और रोजगार की संभावनायें भी तेजी से बढ़ती जा रही हैं।

भारत की ओर से चीनी सरकार को जो भी पत्र व्‍यवहार किया जाता है, वह Mandarin में लिखा हुआ होना जरूरी होता है। अंग्रेजी अथवा हिंदी में पत्र व्‍यवहार को चीन में अधिक महत्‍व नहीं दिया जाता है।

इसके अतिरिक्‍त चीन का जब भी कोई सरकारी अथवा व्‍यापारिक प्रतिनिधिमंडल भारत की यात्रा करता है तब भी चीनी भाषा को अनुवाद करने वाले लोगों की जरूरत पड़ती है।

भारतीय विदेश सेवा के अधिकारी जो चीन में मौजूद दूतावास में काम करते हैं, उन्‍हें भी चीनी भाषा को सीखना पड़ता है क्‍योंकि बिना चीनी भाषा जानें वह अपना काम चीन में सफलतापूर्वक अंजाम नहीं दे सकते हैं।

Chinese Language Me Career Kaise Banaye : चीनी भाषा सीख कर कैरियर के मौके कहां कहां मिलते हैं?

चीनी भाषा यानि मंदारिन सीखने के बाद सरकारी तथा गैर सरकारी दोनों ही क्षेत्रों में कैरियर के व्‍यापक मौके मौजूद हैं। ऐसे ही कुछ क्षेत्रों के बारे में आपको नीचे बिंदूवार बताया जा रहा है। कृप्‍या ध्‍यान से पढ़ें।

  • भारत तथा विदेशों में चल रहीं भाषा अकादमियों में नौकरी प्राप्‍त हो सकती है।
  • Tour & Travel मैनेजमेंट ऐजेंसियों तथा कंपनियों मे Jobs के शानदार मौके मौजूद हैं।
  • भारतीय होटल इंडस्‍ट्री में चीनी भाषा के जानकारों की भारी मात्रा में बढ़ी है।
  • सरकारी मंत्रालयों में चीनी भाषा अनुवादकों के लिये जॉब्‍स के भरपूर मौके हैं, क्‍योंकि भारत सरकार चीन सरकार से संपर्क बनाये रखने के लिये चीनी भाषा में ही पत्र व्‍यवहार करती है।
  • चीनी भाषा के जानकारों को चीन से आये प्रतिनिधि मंडल भारत आने पर काम मिलता है।
  • चीन में भारतीय दूतावास में उन्‍हीं लोगों को नौकरी में वरीयता दी जाती है, जिन्‍हें Mandarin का अच्‍छा ज्ञान होता है।
  • चीन के साथ व्‍यापार करने वाले व्‍यापारी बातचीत करने के लिये चीनी भाषा के जानकारों को अपने यहां नौकरी देते हैं।
  • Mandarin Bhasha के जानकार चीनी भाषा सिखानें के लिये अध्‍यापन का काम अथवा चीनी भाषा सिखाने वाली कोचिंग खोल कर अच्‍छा पैसा कमा सकते हैं।
  • चीन की खबरों को अनुवाद कर प्रसारित करने के लिये भारतीय मीडिया में चीनी भाषा के जानकारों को नौकरी पर रखा जाता है।

Mandarin Bhasha सीखने की प्रशिक्षण कितनी होती है?

भारत में मंदरिन भाषा सिखानें के लिये कई संस्‍थानों के द्धारा Chinese Language Course सं‍चालित किये जा रहे हैं। Chini Language Certificate Course के लिये प्रशिक्षण अवधि कम से कम 1 साल की होती है।

लेकिन चीनी भाषा (मंदरिन) को सीखने के लिये यदि आप Diploma की पढ़ाई कर रहे हैं, तो इसके लिये कम कम 2 वर्ष का प्रशिक्षण लेना अनिवार्य होगा।

Eligibility for Chini Bhasha : चीनी भाषा सीखने के लिये जरूरी योग्‍यता

चीनी भाषा में सार्टिफिकेट कोर्स, डिप्‍लोमा कोर्स तथा स्‍नातक स्‍तर तक की डिग्री कोर्स करने के लिये 12वीं कक्षा में न्‍यूनतम 45% अंक होना अनिवार्य है। इसके अतिरिक्‍त इन कोर्स में प्रवेश लेने के लिये आवेदक का 12वीं कक्षा उत्‍तीर्णं होना जरूरी है।

इसके अलावा यदि आप Chinese Bhasha (Mandarin) में स्‍नातकोत्‍तर पाठयक्रम में प्रवेश लेना चाहते हैं, तो आपको किसी भी स्‍ट्रीम में स्‍नातक की परीक्षा कम से कम 45% अंकों के साथ उत्‍तीर्णं करनी होगी।

Chinese Bhasha Me Career Kaise Banaye : चीनी भाषा सीख कर कैरियर कैसे बनता है?

कोई भी छात्र चीनी भाषा सीख कर टूर एंड ट्रेवल मैनेजमेंट, IT, दवा, रसायन तथा वैज्ञानिक शोध करने वाली कंपनियों में नौकरी के लिये आवेदन कर सकता है।

चूंकि भारत और चीन के बीच सांस्‍कृतिक आदान प्रदान के साथ साथ बहुत बड़ा व्‍यापार भी हो रहा है, ऐसे में चीनी भाषा सीख कर आकर्षक कैरियर बनाया जा सकता है।

Chinese language Course Institute कौन कौन से हैं?

भारत में चीनी भाषा सिखाने वाले अच्‍छे Institutes की भारी कमी है। लेकिन देश में कुछ ऐसे भी संस्‍थान है, जो भारतीय छात्रों को मंदारिन सिखाने के लिये उच्‍चकोटि की शिक्षा प्रदान कर रहे हैं।  जिनके नाम नीचे क्रम से दिये जा रहे हैं।

  • 1 – नईदिल्‍ली में स्थित चीनी दूतावास के द्धारा मैंडरिन सिखाई जाती है। चीनी दूतावास के संस्‍थान के द्धारा पेशेवर, व्‍यवसायी तथा छात्रों को मैंडरिन सिखाई जाती है, जो आगे चल कर चीन में जाकर काम करना चाहते हैं या फिर व्‍यापार।
  • 2 – नईदिल्‍ली के जवाहर लाल नेहरू विश्‍वविद्धालय के सेंटर फॉर चायनीज एंड साउथ ईष्‍ट एशियन स्‍टडीज के तहत मंदरिन सिखाई जाती है।
  • 3 – इंडिया चायना चैंबर ऑफ कामर्स एंड इंडस्‍ट्री के द्धारा मुंबई में चीनी भाषा के कोर्स संचालित किये जाते हैं।
  • 4 – लखनऊ विश्‍वविद्धालय, लखनऊ में मंदरिन कोर्स चलाये जा रहे हैं।
  • 5 – हैदराबाद विश्‍वविद्धालय, हैदराबाद में चीनी भाषा के कोर्स संचालित किये जा रहे हैं।
  • 6 – मुंबई विश्‍वविद्धालय, मुंबई में चीनी भाषा सिखाई जाती है।
  • 7 – दिल्‍ली विश्‍वविद्धालय, दिल्‍ली में भी चीनी भाषा के कोर्स सफलता पूर्वक चल रहे हैं।

Chinese Language salary Package कितना है?

यदि आप Chinese Bhasha के अच्‍छे जानकार हैं, तो आपका कैरियर और Salary Package बहुत शानदार हो सकता है। यदि आप स्‍वतंत्र तथा प्रोफेशनल तरीके से बतौर भाषा अनुवादक काम कर रहे हैं, तो आपको प्रति शब्‍द के अनुसार भुगतान किया जा सकता है।

चीनी भाषा के जानकारों को शुरूआत में ही 20 से 30 हजार रूपये प्रतिमाह का पैकेज मिलना शुरू हो जाता है। जैसे जैसे अनुभव बढ़ता है, वैसे वैसे आपकी सैलरी भी बढ़ती जाती है। एक समय ऐसा भी आता है कि जब चीनी भाषा अनुवादक अन्‍य भाषाओं के जानकारों से कही अधिक पैसा कमाने लगता है।

तो दोस्‍तों यह थी हमारी आज की पोस्‍ट Chinese Bhasha Me Career Kaise Banaye यदि आप Chinese Language in Hindi, China Bhasha Kaise Sikhe, Job Opportunities if you Speak Mandrin, Careers in Chinese Language से संबंधित कोई अन्‍य प्रश्‍न पूछना चाहते हैं, तो आप हमसें कमेंट बॉक्‍स के जरिये पूछ सकते हैं।

Spread the love

1 thought on “Mandarin : Chinese Bhasha Me Career Kaise Banaye – चीनी भाषा में Jobs के मौके”

  1. आपने तो आज बेहद जानकारी सामने लायी है। इस जानकारी के लिये आपको धन्यवाद !

    Reply

Leave a Comment

error: Content is protected !!