Commercial Airline Pilot कैसे बनें – एअरलाइन पायलट कैसे बनते हैं – फीस / शैक्षिक योग्यता / संस्थान / सैलरी 2022

Commercial Airline Pilot Kaise Bane Latest Information in Hindi : जैसे जैसे दुनिया में Global Economy का विकास हो रहा है, वैसे वैसे Aviation सेक्‍टर में Commercial Airline Pilot की डिमांड लगातार बढ़ती जा रही है। ऐसे में ऐसे भारतीय छात्र जो 12वीं कक्षा के बाद ऐविएशन सेक्‍टर में अपना कॅरियर बनाना चाहते हैं। उनके पास पायलट बनने का सुनहरा मौका है।

भारत में अनेक Airlines कंपनियां हैं, जो राष्‍ट्रीय व अंतराष्‍ट्रीय उड़ानें संचालित करती हैं। इन कंपनियों में Pilot Jobs Vacancy समय समय पर निकलती रहती हैं। इन कंपनियों के द्धारा पायलट को अच्‍छी सैलरी व अन्‍य सुविधायें प्रदान की जाती हैं।

भारत में पायलट बनने के लिये 10+2 गणित विषय अच्‍छे नंबरों से पास करना जरूरी होता है। Aviation Schools में आमतौर पर 12वीं कक्षा उत्‍तीर्णं करने के बाद एड‍मीशन मिल जाता है। वहीं ग्रेजुऐशन के बाद भी ऐविऐशन स्‍कूल में प्रवेश के लिये आवेदन किया जा सकता है।

आज की इस पोस्‍ट में हम आपको Commercial airline pilot school  में प्रवेश लेकर पायलट बनने के विभिन्‍न तरीकों के बारे में विस्‍तार से बात करेंगें साथ ही Airline Pilot Kaise Bane | Pilot Kaise Bante Hain 2022 | Pilot Kaise Bane after 12th | कमर्शियल पायलट कैसे बनें | Become an Airline Pilot in Hindi के सभी बिंदुओं पर चर्चा करेंगें ताकि ऐविऐशन संस्‍थान में प्रवेश लेने से पहले ही आप Commercial Airline Pilot बनने के लिये मानसिक रूप से तैयार हो जायें।

Contents

Commercial Airline Pilot क्‍या होता है? कमर्शियल एअरलाइंस पायलट प्रोसेस 2022

Commercial Airline Pilot Kaise Bane Latest Information and News
पायलट बनने की पूरी जानकारी

Commercial Airline Pilot Kya Hai : कमर्शियल एयरलाइन पायलट एक ऐसा व्‍यक्ति होता है जो प्रोफेशनल तरीके से हवाई जहाज उड़ाने का काम करता है। वह यात्री विमानों के साथ साथ कार्गो फ्लाइटस भी उड़ाते हैं। इसके एवज में Pilots को अच्‍छी सैलरी मिलती है।

कमर्शियल एअरलाइंस पूरी तरह व्‍यवसायिक उड़ानों को संचालित करती हैं फिर वह चाहे यात्री उड़ाने हों अथवा कार्गो उड़ानें। कमर्शियल एयरलाइन पायलट इन्‍हीं ऐविऐशन कंपनियों में अपनी सेवायें प्रदान करते हैं।

कमर्शियल पायलट बनने के लिये आपको ऐवियेशन स्‍कूल में एडमीशन लेकर पढ़ाई करनी होती है तथा निर्धारित घंटों की हवाई उड़ानों की ट्रेनिंग का चरण पूरा करना होता है। इसके बाद ही आपको कमर्शियल पायलट अथवा निजी पायलट बनने का लाइसेंस हासिल होता है।

Eligibility Criteria for Commercial Airline Pilot 2022

पायलट बनने के लिये जरूरी शैक्षिक योग्‍यता इस प्रकार है

  • पायलट बनने के इच्‍छुक व्‍यक्ति को सबसे पहले 10वीं बोर्ड परीक्षा शानदार अंकों के साथ पास करनी होती है।
  • 11वीं तथा 12वीं कक्षा PCM यानि विज्ञान विषय (फिजिक्‍स, केमेस्‍ट्री) के साथ साथ मैथमेटिक्‍स के साथ कम से कम 50% अंकों के साथ उत्‍तीर्णं करना जरूरी होता है।
  • ऐविऐशन सेक्‍टर में जाने के इच्‍छुक छात्र – छात्राओं को इंग्लिश स्‍पीकिंग व इंग्लिश ग्रामर पर पकड़ होना जरूरी है।
  • अधिकतर ऐविऐशन स्‍कूल अपने यहां साइंस बैकग्राउंड वाले स्‍टूडेंटस को एडमीशिन देते हैं लेकिन कुछ संस्‍थान अपने यहां कामर्स बैकग्राउंड वाले छात्रों को भी प्रवेश देते हैं।
  • यदि छात्र सीधे 12वीं कक्षा के बाद प्राइवेट पायलट लाइसेंस लेना चाहते तो इसके लिये सबसे पहले उन्‍हें DGCA द्धारा आयोजित की जाने वाली परीक्षा पास करना जरूरी होता है।
  • ऐविऐशन सेक्‍टर में जाने के इच्‍छुक उम्‍मीदवारों की आंखों का वजन यदि 6/6 से कम है, तो उन्‍हें पायलट बनने के योग्‍य नहीं माना जाता है।
  • इसी प्रकार कलर ब्‍लाइंडनेस बीमारी के शिकार व्‍यक्ति को पायलट बनने के लिये योग्‍य नहीं माना जाता है।
  • पायलट बनने के लिये 5 फुट हाइट वाले तथा शारीरिक रूप से स्‍वस्‍थ छात्र – छात्रायें Eligible मानी जाती हैं।
  • कमर्शियल एविशऐशन सेक्‍टर में लड़के व लड़कियों दोनों को समान रूप से इंट्री मिलती है।

Commercial Airline Pilot License हासिल करने के लिये न्‍यूनतम Age Limit क्‍या है

Commercial Airline Pilot Kaise Bane after 12th

12वीं के बाद Commercial Airline Pilot बनने के लिये 10वीं के Exam में आपको अच्‍छे Marks लाने होंगें। इसके बाद PCM विषयों के साथ 12वीं कक्षा कम से कम 50% अंकों के साथ Pass करनी होगी। इसके बाद आप Directorate General of Civil Aviation (DGCA) के द्धारा आयोजित परीक्षा उत्‍तीर्णं करनी होगी। इसके बाद आप Pilot Training Course में Admission लेकर व्‍यवसायिक एअरलाइन पायलट बनने की पढ़ाई कर सकते हैं।

भारतीय छात्रों को कमर्शियल पायलट बनने के लिये किन बिन्‍दुओं का ध्‍यान रखना चाहिये

कमर्शियल पायलट बनने के लिये भारतीय छात्रों को Directorate General of Civil Aviation से मान्‍यता प्राप्‍त संस्‍थानों में ही प्रवेश लेकर पढ़ाई करनी चाहिये।

पायलट बनने के इच्‍छुक छात्रों को हमेशा अपनी स्‍पोकन इंग्लिश मजबूत करने का प्रयास करना चाहिये क्‍योंकि बिना अंग्रेजी के ज्ञान के आपको इस सेक्‍टर में कॅरियर बनाने के लिये इंट्री नहीं मिलेगी।

Aviation Academy में प्रवेश लेने के बाद गंभीरता से पढ़ना होगा तथा फ्लाइट उड़ान ट्रेनिंग के लिये निर्धारित घंटों में हवाई जहाज उड़ाने का प्रशिक्षण पूरा करना होगा।

हवाई यातायात पूरी तरह मैथमेटिकल फंडामेंटल पर काम करता है, इसलिये आपको निरंतर गणित विषय का अध्‍ययन करना होगा। क्‍योंकि हवाई उड़ान के समय आपको गणितीय गणना करने की जरूरत पड़ सकती है।

एक अच्‍छे कमर्शियल एअरलाइन पायलट के अंदर शारीरिक व मा‍नसिक दबाव सहन करने की प्रवृत्ति होनी चाहिये क्‍योंकि हवाई उड़ान के समय कई बार ऐसी परिस्थितियों का सामना करना पड़ता है, जो बहुत ही प्रतिकूल होती हैं।

प्राइवेट पायलट लाइसेंस कब मिलता है

How to become a pilot : स्‍टूडेंट पायलट लाइसेंस आपको 60 घंटे की उड़ान प्रशिक्षण हासिल करने के बाद मिलता है। जब आपको यह लाइसेंस मिल जाता है तो आप प्राइवेट पायलट लाइसेंस हासिल करने के लिये Apply कर सकते हैं।

कमर्शियल एअरलाइन पायलट लाइसेंस कब मिलता है

SPL लाइसेंस जोकि 60 घंटे का उड़ान प्रशिक्षण + प्राइवेट पायलट लाइसेंस जोकि 150 घंटे = 210 घंटे की Flying Training पूरा करने के बाद कमर्शियल पायलट लाइसेंस के लिये आवेदन किया जा सकता है।

Commercial Airline Pilot बनने के लिये किन चरणों से गुजरना पड़ता है

Start Your Career as a Pilot with the Best Aircraft and Training : एविऐशन स्‍कूल में पढ़ाई करने के बाद आपको कुछ Tests से गुजरना पड़ता है। इन टेस्‍ट को पास करने के बाद ही आप लाइसेंस लेकर कमर्शियल एयरलाइंस पायलट बन पाते हैं। जब आपको यह लाइसेंस मिल जाता है तो आप किसी भी घरेलू अथवा अंतराष्‍ट्रीय ऐशिऐशन कंपनी के व्‍यवसायिक Aircraft उड़ाने के योग्‍य बन जाते हैं।

इसके अलावा आप कैडेट पायलट प्रोग्राम में प्रवेश लेकर भी Commercial Airline Pilot बन सकते हैं। इसके लिये आपको एंट्रेंस एग्‍जाम, इंटरव्‍यू तथा मेडिकल टेस्‍ट के चरणों से गुजरना पड़ता है। इस प्रकार के प्रोग्राम भारतीय ऐविऐशन कंपनियों के द्धारा संचालित किये जाते हैं। सभी कंपनियों के प्रोग्राम अलग अलग तरीके से प्रवेश व प्रशिक्षण देते हैं।

कैडेट पायलट प्रोग्राम की अवधि कितनी होती है?

कैडेट पायलट प्रोग्राम जो एवियेशन कंपनियों के द्धारा संचालित किये जाते हैं उनकी अवधि अमूमन 18 माह होती है।

क्‍या ऐविऐशन स्‍कूलों में ट्रेनिंग व पढ़ाई के अलावा Job Contract की सुविधा प्रदान की जाती है

जी हां, भारतीय तथा विदेशी ऐविऐशन स्‍कूलों में कमर्शियल पायलट की ट्रेनिंग व पढ़ाई के बाद कंपल्‍सरी Job Contract की सुविधा प्रदान की जाती है। जिससे ऐविऐशन की पढ़ाई कर रहे छात्रों को कुछ वक्‍त के लिये Pilot Job संस्‍थान स्‍तर पर ही मिल जाती है। जब यह Contract खत्‍म हो जाता है तब छात्र अपनी इच्‍छानुसार मनपंसद ऐविऐशन कंपनी में पायलट की नौकरी के लिये Apply करने के लिये स्‍वतंत्र होते हैं।

Chimes Aviation Academy से Commercial Pilot License Training कैसे करें

भारत में Chimes Aviation Academy के द्धारा भी कमर्शियल एअरलाइंस पायलट ट्रेनिंग कोर्स में प्रवेश दिया जाता है। यह एक अच्‍छा संस्‍थान हैं। इस संस्‍थान में प्रवेश लेकर आप कमर्शियल एअरलाइंस पायलट बनने का सपना साकार कर सकते हैं।

ऊपर दिये गये लिंक पर क्लिक करते ही आप Chimes Aviation Academy की आधिकारिक वेबसाइट के Homepage पर पहुंच जाते हैं।

Commercial Airline Pilot Course and Admission Process Chimes Aviation Academy
एडमीशन प्रोसेस ऑनलाइन पायलट बनने के लिये
  • यहां आपको Commercial Pilot License Training कोर्स का विवरण दिखाई पड़ता है। आपको यहां Apply Now बटन पर क्लिक करना है।
  • इतना करते ही कमर्शियल एअरलाइन पायलट ट्रेनिंग कोर्स का Form खुल जाता है।
Pilot Admission Form Online
इस तरह भरें अपना फार्म
  • यहां आप सबसे पहले Please Answer सेक्‍शन को पूरा करें।
  • इसके बाद जनरल इन्‍फॉरमेशन सेक्‍शन Fill करें।
  • अपनी पर्सनल जानकारी भरें।
  • अपना DGCA Medical Status इंटर करें।
  • परिवार की सूचना Fill करें।
  • अपनी शैक्षिक योग्‍यता भरें।
  • अपना पता लिखें और अंत में Fee Online भर कर Form सबमिट कर दें।
  • इस तरह आप Chimes Aviation Academy में प्रवेश लेने के लिये सफलतापूर्वक आवेदन कर लेते हैं।

Rajiv Gandhi National Aviation University (RGNAU) से कमर्शियल एअरलाइन पायलट कैसे बनें

राजीव गांधी राष्‍ट्रीय विमानन विश्‍वविद्धालय से भी कमर्शियल एयरलाइन पायलट बना जा सकता है। यह यूनिवर्सिटी बहुत से एकेड‍मिक प्रोग्राम का संचालन करती है। आप RGNAU में प्रवेश लेकर आसानी से व्‍यवसायिक पायलट बन सकते हैं।

RGNAU में कौन कौन से कोर्स में प्रवेश दिया जाता है

राजीव गांधी नेशनल एविऐशन यूनिवर्सिटी में आप निम्‍न कोर्स में एडमीशन ले सकते हैं –

  • PGDAO
  • BMS
  • BFFC

कमर्शियल एअरलाइन पायलट के लिये Admission के लिये प्रमुख संस्‍थान 2022

  • Chimes Aviation Academy
  • राजीव गांधी राष्‍ट्रीय विमानन विश्‍वविद्धालय, अमेठी, उत्‍तरप्रदेश
  • इंडियन एविऐशन अकादमी, मुंबई
  • इंटरनेशनल स्‍कूल ऑफ एवियेशन, नईदिल्‍ली
  • एक्‍यूमेन स्‍कूल ऑफ पायलट ट्रेनिंग, नईदिल्‍ली
  • एशियाटिक इंटरनेशनल एविऐशन अकादमी, इंदौर, मध्‍यप्रदेश
  • ब्‍लू डायमंड एविऐशन अकादमी, पुणें, महाराष्‍ट्र
  • बॉम्‍बे फ्लाइंग क्‍लब, मुबंई, महाराष्‍ट्र
  • इंदिरा गांधी राष्‍ट्रीय उड़ान अकादमी
  • IndiGo कैडेट ट्रेनिंग संस्‍थान
  • इंस्‍टीटयूट ऑफ एविऐशन एंड ऐविऐशन सैफ्टी

Commercial Airline Pilot की सैलरी कितनी होती है

Commercial Airline Pilot Salary in India 2022 : अब आप यह जानने के लिये बेताब होंगें कि आखिर एक कमर्शियल एअरलाइन पायलट कितना कमाता है। तो चलिये हम आपको बताते हैं।

भारत में कमर्शियल एयरलाइन पायलट की औसत सैलरी 46,87,900 रूपये सालाना होती है। यानि 3,90,650 रूपये मंथली।

लेकिन यदि पायलट बहुत अनुभवी है और उसे विषम से विषम परिस्थितियों में Aeroplane उड़ाना आता है, तो उसे Indian Aviation Industry में तो उसे और अधिक सैलरी ऑफर की जा सकती है।

Pilot Kaise Bane in India (FAQ) – अक्‍सर पूछे जाने वाले सवाल

Commercial Airline Pilot Course Fee कितनी होती है?

यदि आप कमर्शियल पायलट बनने का सपना देख रहे हैं, तो शिक्षा में टीम आपको बताना चाहती है, कि यह एक बहुत ही मंहगा कोर्स है। यदि आप पायलट बनना चाहते हैं तो आपके पास भरपूर पैसे होने बेहद जरूरी हैं। क्‍योंकि साल 2022 में पायलट कोर्स व हॉस्‍टल आदि की फीस 15 से 50 लाख रूपये तक हो सकती है।

क्‍या पीसीएम विषय के साथ 12वीं कक्षा उत्‍तीर्णं होना जरूरी है?

जी हां, यदि आप पायलट बनना चाहते हैं, तो 12वीं कक्षा PCM विषयों  के साथ उत्‍तीर्णं होना बहुत जरूरी है। खासकर गणित विषय में आपको महारत हासिल होनी चाहिये क्‍योंकि पायलट को उड़ान के दौरान गणितीय कैलकुलेशन करने की कभी भी जरूरत पड़ सकती है।

क्‍या कमर्शियल एअरलाइन पायलट कोर्स करने के बाद संस्‍थान प्‍लेसमेंट की सुविधा देते हैं?

जी हां, देश के लगभग सभी Aviation Academy में प्‍लेसमेंट की सुविधा प्रदान की जाती है। इन संस्‍थानों के अच्‍छे स्‍टूडेंटस को भारतीय एविऐशन इंडस्‍ट्री की प्रमुख कंपनियों में पढ़ाई पूरी होने के पूर्व ही अच्‍छी नौकरी मिल जाती है।

भारत में कमर्शियल पायलट कोर्स कितने साल का होता है?

आमतौर पर भारत में Commercial Airline Pilot Course 2-3 साल का होता है। विभिन्‍न संस्‍थानों में कुछ अन्‍य फीचर्स Add होने पर पायलट कोर्स की अवधि अधिक भी हो सकती है।

क्‍या विदेशों में पायलट बनने की ट्रेनिंग ली जा सकती है?

जी हां, यदि आप विदेश जा कर पायलट कोर्स में प्रवेश लेकर ट्रेनिंग हासिल करना चाहते हैं, तो ऐसा किया जा सकता है। कुछ देशों में 1 साल के कोर्स को करने के बाद आप कमर्शियल एअरलाइन पायलट न सकते हैं।

क्‍या कमर्शियल पायलट का लाइसेंस मिल जाने के बाद अपनी मर्जी से किसी एअरलाइन में Job के लिये Apply किया जा सकता है?

Airline Pilot Career : जी हां, यदि आपको अपने संस्‍थान में प्‍लेसमेंट सुविधा का लाभ नहीं मिला है, तो आप देश की प्रमुख एअरलाइंस में पायलट वैकेंसी निकलने पर आवेदन कर सकते हैं।

निष्‍कर्ष :

तो दोस्‍तों यह थी हमारी आज की पोस्‍ट Commercial Airline Pilot Kaise Bane – एअरलाइंस पायलट कैसे बनते हैं – फीस / शैक्षिक योग्यता / संस्थान / सैलरी 2022 यदि आप Pilot Course Fee आदि से संबंधित कोई अन्‍य प्रश्‍न पूछना चाहते हैं तो आप हमसें कमेंट बॉक्‍स के जरिये पूछ सकते हैं।

Spread the love

1 thought on “Commercial Airline Pilot कैसे बनें – एअरलाइन पायलट कैसे बनते हैं – फीस / शैक्षिक योग्यता / संस्थान / सैलरी 2022”

Leave a Comment