Polytechnic Rojgar Guarantee Kya Hai | पॉलीटेक्निक रोजगार गारंटी

Polytechnic Rojgar Guarantee | Polytechnic Placement | Central Placement cell in UP | Polytechnic Jobs in UP | Polytechnic Interview |

आज तकनीक का युग है। इसलिये बहुत से छात्र अच्‍छा career बनाने के लिये तकनीकी शिक्षा हासिल करना पसंद करते हैं।

भारत में तकनीकी शिक्षा की शुरूआत 10वीं कक्षा से शुरू हो जाती है। माध्‍यमिक स्‍तर पर देश के विभिन्‍न राज्‍यों में व्‍यवसायिक शिक्षा परिषद 10वीं तथा 12वीं कक्षा के बोर्ड पाठयक्रम चलाते हैं।

इसके अलावा तकनीक की उच्‍च शिक्षा देश भर के ITI तथा Polytechnic संस्‍थानों के द्धारा प्रदान की जाती है। इस समय Polytechnic Rojgar Guarantee से उपलब्‍ध कराने वाला संस्‍थान बनने की दिशा में अपने कदम आगे बढ़ा रहा है।

Polytechnic Rojgar Guarantee in UP | उत्‍तर प्रदेश में पॉलीटेक्निक रोजगार गारंटी

Polytechnic Rojgar Guarantee in Hindi
पॉलीटेक्निक रोजगार गारंटी

आपकी जानकारी के लिये बता दें कि उत्‍तरप्रदेश में प्राविधिक शिक्षा परिषद Polytechnic Rojgar Guarantee की व्‍यवस्‍था अनिवार्य रूप से करना चाहता है।

ताकि Polytechnic संस्‍थानों से तकनीकी शिक्षा हासिल कर रहे छात्रों को Rojgar Guarantee से मिल सके।

प्राविधिक शिक्षा विभाग की इस कोशिश से प्रदेश के छात्रों का मनोबल तो बढ़ेगा ही, साथ में उनका पॉलीटेक्निक के प्रति विश्‍वास भी बढ़ेगा।

पॉलीटेक्निक रोजगार गारंटी प्रदेश के 65% छात्र छात्राओं को प्राप्‍त होगी, जो अपनी ट्रेड में सर्वश्रेष्‍ठ प्रदर्शन कर रहे हैं। प्राविधिक शिक्षा परिषद अपने यहां से डिप्‍लोमा लेकर निकलने वाले प्रशिक्षित छात्रों को नौकरी दिलाने का भी भरपूर प्रयास करेगी।

Polytechnic Rojgar Guarantee कैसे और कितनी मिलेगी

उत्‍तर प्रदेश में प्राविधिक शिक्षा परिषद हैदराबाद की टाटा टेक्‍नोलॉजी लिमिटेड के साथ एक करार करने जा रही है।

जिसके तहत कंपनी अपने विशेषज्ञों को राज्‍य के अनुदानित पॉलिटेक्निक संस्‍थानों में 40 घंटे का प्रशिक्षण देने के लिये भेजेगी।

इसके अलावा छात्रों को अंग्रेजी बोलने का प्रशिक्षण भी दिया जाएगा। इस पूरे प्रोजेक्‍ट में छात्रों का पर्सनॉलिटी डेवलपमेंट बेहतर किया जाएगा।

उन्‍हें यह भी बताया जाएगा कि जब पॉलीटेक्निक के छात्र किसी कंपनी में इंटरव्‍यू के लिये जायें, तो उन्‍हें किस प्रकार इंटरव्‍यू देना चाहिए।

प्राविधिक शिक्षा विभाग टाटा टेक्‍नोलॉजी के साथ हो रहे करार को हर हाल में 2020-21 के शैक्षिक सत्र से ही लागू कर देना चाहती है।

ताकि Polytechnic Rojgar Guarantee प्रोग्राम का लाभ उत्‍तर प्रदेश के छात्र छात्राओं को मिल सके।

पॉलिटेक्निक रोजगार गारंटी प्रोग्राम के तहत इंटरव्‍यू देने की क्षमता बढ़ाई जाएगी

प्राविधिक शिक्षा परिषद का मानना है, कि उत्‍तर प्रदेश के अधिकांश छात्र उच्‍च तकनीकी योग्‍यता होने के बावजूद इंटरव्‍यू के दौरान छंट जाते हैं।

जिसकी वजह से उनका कैरियर अंधकार मय हो जाता है। इस समस्‍या से निपटने के लिये प्राविधिक शिक्षा परिषद, हैदराबाद की कंपनी के साथ मिल कर उन्‍हें अंग्रेजी भाषा बोलना सिखाएगी।

क्‍योंकि कंपनियों में उन्‍हीं छात्रों को वरीयता दी जाती है, जो अच्‍छी इंग्लिश बोल लेते हैं। इसके अलावा छात्रों के व्‍यक्तित्‍व का विकास करने की दिशा में भी काम किया जाएगा। ताकि इंटरव्‍यू देते समय उत्‍तर प्रदेश के तकनीकी छात्र कंपनियों के अफसरों पर अपना अच्‍छा प्रभाव छोड़ सकें।

यदि अंग्रेजी भाषा में पकड़ और पर्सनॉलिटी डेवलपमेंट पर काम कर लिया जाता है, तो फिर औद्धोगिक प्रतिष्‍ठानों में Polytechnic Rojgar Guarantee से प्राप्‍त होगा।

बड़ी कंपनियां यूपी के छात्रों की अनदेखी नही कर पाएंगीं। अभी होता यह है कि हिंदी पटटी के तकनीकी छात्र अंग्रेजी बोलने तथा अपनी बॉडी लैंग्‍वेज से मात खा जाते हैं।

पॉलिटेक्निक रोजगार गारंटी लिये Central Placement cell का निर्मांण होगा

प्राविधिक शिक्षा परिषद ने Polytechnic Rojgar Guarantee की दिशा में एक और बड़ा कदम उठाते हुए घोषणा की है, कि प्रदेश में तकनीकी छात्रों को पॉलीटेक्निक रोजगार गारंटी से मिल सके इसके लिये Central Placement cell बनाया जाएगा।

इस सेल की मॉनीटरिंग का दायित्‍व संयुक्‍त प्रवेश परीक्षा परिषद के सचिव को सौंपी जा चुकी है।

इस योजना के तहत पहले चरण में लखनऊ, प्रयागराज, रायबरेली, वाराणसी, गोरखपुर, मिर्जापुर, बरेली, मेरठ, मुरादाबाद तथा गाजियाबाद में Placement cell स्‍थापित किये जाएंगे।

इसका फायदा यह होगा कि पॉलीटेक्निक संस्‍थानों से डिप्‍लोमा लेकर निकलने वाले 65% छात्रों को कैंपस में ही नौकरी हासिल हो जाएगी।

Polytechnic Rojgar Guarantee के लिये कोर्स अपडेट किये जाएंगे

प्राविधिक शिक्षा परिषद पॉलीटेक्निक द्धितीय वर्ष के 6 कोर्स को रोजगार परक बनाने की दिशा में भी तेजी से प्रयास कर रहा है।

जिसके लिये शोध विकास संस्‍थान एवं प्रशिक्षण परिषद (IRDT) की टीम युद्धस्‍तर पर इस लगी हुई है। आने वाले समय में सभी पुराने कोर्स को नये सिरे से अपडेट कर दिया जाएगा।

Also Read :

Spread the love

Leave a Comment

error: Content is protected !!