PM SHRI SCHOOLS योजना Eligibility क्या है – 14597 पीएम श्री स्कूल पूरे देश में

PM SHRI SCHOOLS YOJANA : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शिक्षक दिवस के अवसर पर राष्‍ट्रीय पुरस्‍कार प्राप्‍त शिक्षकों से वार्तालाप करते समय एक नयी योजना की शुरूआत करने का ऐलान किया। जिसका नाम पीएम श्री स्‍कूल योजना है।

Prime Minister Schools for Rising India इस योजना का असली नाम है। जिसे शार्ट फार्म में पीएम श्री योजना के नाम से प्रचारित किया गया है। इस योजना के तहत पूरे भारत में 14597 सरकारी स्‍कूलों को अपग्रेड किया जाना है। जिसके लिये सरकार ने 27,360 करोड़ रूपये अगले 5 वर्षों में खर्च करने का फैसला किया है।

PM SHRI SCHOOLS को दिल्‍ली के केजरीवाल मॉडल के स्‍कूलों को कड़ी टक्‍कर देने के मकसद से लांच किया गया है। जिसका फायदा सीधे तौर पर ग्रामीण तथा शहरी क्षेत्र के ऐसे छात्र-छात्राओं को मिलने वाला है, जो सरकारी स्‍कूलों में पढ़ते हैं।

आज का यह आर्टिकल आपको यह समझने में मदत करेगा कि PM Shri Scheme | PM Shri Scheme 2022 | Pradhanmantri Schools for Rising India | पीएम मोदी श्री स्‍कीम | पीएम श्री योजना क्‍या है

Contents

PM SHRI SCHOOLS YOJANA का उद्देश्य क्‍या है

PM SHRI SCHOOLS Yojana - pm shri yojana - pm shri scheme
प्राइम मिनिस्‍टर स्‍कूल्‍स फॉर राइजिंग इंडिया

PM SHRI SCHOOLS YOJANA का मुख्‍य उद्देश्य देश के ग्रामीण व शहरी इलाकों के सरकारी स्‍कूलों का अपग्रेडेशन करके उन्‍हें अंग्रेजी माध्‍यम के निजी पब्लिक स्‍कूलों के समकक्ष बनाना है। सरकार का स्‍पष्‍ट मानना है कि यदि सरकारी स्‍कूलों पर विशेष ध्‍यान दिया जाये तो वह भी निजी स्‍कूलों की तरह आधुनिक तकनीक पर आधारित शिक्षा प्रदान कर सकते हैं।

पीएम श्री योजना के तहत अपग्रेड होने वाले सभी स्‍कूल मॉडल स्‍कूल की तरह विकसित किये जायेगें। जहां पर नयी शिक्षा नीति (NEP) के मापदंडों पर खरे उतरेंगें।

हम सब जानते हैं कि दिल्‍ली के केजरीवाल मॉडल के अत्‍याधुनिक सरकारी स्‍कूल अमेरिका, यूरोप समेत पूरे भारत में चर्चा का विषय बने हुये हैं। ऐसे में प्राइम मिनिस्‍टर स्‍कूल फॉर राइजिंग इंडिया के तहत अपग्रेड होने वाले स्‍कूल दिल्‍ली के बाहर रहने वाले स्‍कूली छात्रों के वरदान साबित होने वाले हैं।

Eligibility Criteria for PM SHRI SCHOOLS YOJANA 2022

  • ऐसे स्‍कूल जो दिव्‍यांग बच्‍चों के लिये आवश्‍यक बुनियादी जरूरी सुविधायें रखते हैं।
  • ऐसे स्‍कूल जहां पर लड़कियों व लड़कों के लिये अलग अलग शौचालय पहले से मौजूद हैं।
  • वह स्‍कूल जिनके पास पर्याप्‍त लंबाई चौंड़ाई वाला खेल का मैदान है, उन्‍हें पीएम श्री योजना के लिये पात्र माना जायेगा।
  • जिन स्‍कूलों में छात्र – छात्राओं की पर्याप्‍त संख्‍या में मौजूदगी है, उन्‍हें इस योजना के तहत आवेदन करने का मौका हासिल हो सकेगा।
  • यदि स्‍कूल में महिला व पुरूष शिक्षकों के लिये अलग अलग शौचालय बने हुये हैं तो उन्‍हें पात्र माना जायेगा।
  • आवेदन करने वाले सरकारी स्‍कूल में लाइब्रेरी का होना आवश्‍यक है।
  • यदि किसी सरकारी स्‍कूल में पर्याप्‍त टीचर्स स्‍टॉफ मौजूद है, तो ऐसे स्‍कूल PM Shri Yojana में आवेदन कर सकते हैं।
  • सरकारी स्‍कूल जिनके पास पक्‍का व मजबूत भवन व उसमें पर्याप्‍त संख्‍या में शिक्षण कक्षायें मौजूद हैं तो वह योजना के तहत आवेदन करने के पात्र हैं।
  • Also Read :
  • दिव्‍यांग फ्री कोचिंग योजना में आवेदन कैसे किया जाता है?
  • सेना में मौलवी कैसे बनें?
  • यूपी बोर्ड अंकपत्र संशोधन कैसे करायें?

Key Highlights for PM SHRI Schools Yojana

  • योजना का नाम – पीएम श्री स्‍कूल योजना
  • किसने शुरू की – पीएम मोदी
  • कब शुरू हुई – 5 सितंबर 2022
  • योजना का कार्यक्षेत्र – संपूर्णं भारतवर्ष
  • लाभार्थी – सरकारी स्‍कूल, शिक्षक व उन स्‍कूलों में पढ़ने वाले स्‍कूली छात्र
  • आधिकारिक वेबसाइट – https://www.education.gov.in/

पीएम श्री योजना के मुख्‍य फीचर्स

PM Shree Scheme के मुख्‍य Features इस प्रकार हैं –

पीएम श्री स्‍कूल स्‍कीम के तहत अपग्रेड होने वाले सभी 14,597 स्‍कूलों में New Education Policy के तहत शिक्षा प्रदान की जायेगी।

यह योजना प्रायोगिक रूप में अगले 5 साल के लिये लागू की गयी है। यानि इस योजना के तहत चुने गये सभी स्‍कूलों को योजना लाभ 2027 तक मिलता रहेगा।

चुने गये सरकारी स्‍कूलों को बेहतर बनाने के लिये 27560 करोड़ रूपये अगले 5 साल के दौरान खर्च किये जायेंगें।

PM SHRI SCHOOLS के तहत सरकारी स्‍कूलों को पोर्टल पर आवेदन करना होगा। तभी वह योजना के प्रोसेस का पार्ट बन पायेंगें।

यह योजना केंद्र व राज्‍य दोनों के सहयोग से लागू होगी यानि योजना के तहत केंद्र सरकार 60% व राज्‍य सरकारें 40% खर्च करेंगी।

प्रधानमंत्री श्री स्‍कूल योजना के मुख्‍य लाभ क्‍या हैं

  • पीएम श्री स्‍कूलों में नयी टेक्‍नोलॉजी युक्‍त Labs (प्रयोगशाला) अनिवार्य रूप से बनायी जायेगी। जहां छात्र-छात्रायें वैज्ञानिक प्रयोग कर सकेंगें।
  • पीएम श्री स्‍कूलों में खेल कूद के लिये प्‍ले ग्राउंड भी होगा।
  • इन स्‍कूलों में पीने योग्‍य साफ पानी की व्‍यवस्‍था अनिवार्य रूप से करायी जायेगी।
  • इन स्‍कूलों में साफ सुथरे टॉयलेटस बच्‍चों व शिक्षकों के लिये होंगें।
  • स्‍कूलों के भवनों की साज-सज्‍जा व रंग-रोगन आधुनिक पद्धति से किया जाना जरूरी होगा होगा।
  • अपग्रेड होने वाले स्‍कूल का भवन बाहर से देखने में बहुत आकर्षक होगा व इसमें पर्याप्‍त मात्रा में हरियाली भी होगी।
  • PM Shri Schools Scheme के तहत अपग्रेड होने वाले स्‍कूल में 5वीं कक्षा से लेकर 12वीं कक्षा तक मुफत Education प्रदान की जायेगी।
  • इन विद्धालयों में शिक्षा देने का करने का तरीका आधुनिक एवं परिवर्तनशील होगा।
  • इन स्‍कूलों में शोध उन्‍मुख व नॉलेज बेस्‍ड शिक्षण पर जोर दिया जायेगा।
  • अपग्रेडेड विद्धालयों में पढ़ाई के लिये नवीनतम तकनीक का इस्‍तेमाल किया जायेगा।
  • पीएम श्री स्‍कूल्‍स के क्‍लास रूम आधुनिक / स्‍मार्ट व डिजिटल बोर्ड से युक्‍त होंगे।
  • देश भर के पीएम श्री विद्धालयों में पढ़ने वाले लाखों छात्रों को बेहतर शिक्षा वयवस्‍था हासिल होगी।

Prime Minister Schools for Rising India के तहत एक जिले में कितने स्‍कूल इस योजना से जुड़ सकते हैं

Prime Minister Schools for Rising India के तहत केंद्र व राज्‍य सरकारों के सहयोग से सरकारी स्‍कूलों का सिलेक्‍शन किया जायेगा। इसके लिये जिलों के प्रत्‍येक ब्‍लॉक के 2 सरकारी स्‍कूलों का चयन इस योजना के तहत किया जायेगा। जिनमें से एक स्‍कूल प्राइमरी स्‍तर का तथा दूसरा माध्‍यमिक स्‍तर का होगा।

सरकारी स्‍कूल PM SHRI SCHOOLS YOJANA में आवेदन कैसे करें

यदि कोई सरकारी स्‍कूल प्रधानमंत्री स्‍कूल फॉर राइजिंग इंडिया के तहत आवेदन करना चाहता है, तो वह अपना आवेदन पीएम श्री पोर्टल पर कर सकता है। इस पोर्टल को वर्ष में 4 बार यानि प्रति तिमाही Active किया जायेगा।

FAQ – PM Shri Scheme रिलेटिड काम के सवाल

अपग्रेड होने वाले पीएम श्री स्‍कूल को 5 साल में कितना धन प्राप्‍त होगा?

जो स्‍कूल इस योजना के तहत अपग्रेड होंगे उन्‍हें वर्ष 2026-27 तक 2 करोड़ रूपये की आर्थिक सहायता सरकार की ओर से प्रदान की जायेगी।

PM SHRI SCHOOLS YOJANA को किस शैक्षणिक वर्ष से लागू माना जायेगा?

PM SHRI SCHOOLS YOJANA को वर्ष 2022-23 के शैक्षणिक सत्र से लागू माना जायेगा। यह योजना प्रायोगिक रूप से वर्ष 2026-27 तक चलेगी।

क्‍या अगले 5 साल बाद यह योजना बंद कर दी जायेगी?

यदि पीएम श्री योजना प्रायोगिक टर्म में खरी उतरती है, तो इसे आगामी वर्षों में बढ़ाया जा सकता है। लेकिन यदि परिणाम अच्‍छे नहीं मिले तो इस योजना को केंद्र सरकार बंद भी कर सकती है।

PM SHRI SCHOOLS YOJANA Guidelines कब जारी होगी?

इस योजना को लांच हुये अभी कुछ ही दिन हुये हैं। इसलिये गाइलाइंस जारी होने में थोड़ा वक्‍त लग सकता है। जारी होने के बाद आप यहां से PM Shri Yojana Guidelines pdf Download कर सकते हैं।

पीएम श्री योजना में मुख्‍य रूप से कौन से विद्धालयों को शामिल किया जायेगा?

प्रधानमंत्री श्री योजना के तहत राज्‍य सरकारों के स्‍कूल, केंद्र शासित प्रदेशों की सरकारों के स्‍कूल तथा स्‍थानीय निकायों के द्धारा संचालित स्‍कूलों को अपग्रेडेशन में शामिल किया जायेगा। जिनकी शैक्षणिक गुणवत्‍ता सबसे खराब मानी जाती है।

इस योजना के तहत चयन प्रक्रिया के कुल कितने पैरामीटर निर्धारित किये गये हैं?

इस योजना में आवेदन करने वाले सरकारी स्‍कूलों के लिये 60 से ज्‍यादा पैरामीटर्स निर्धारित किये गये हैं, जिनमें से कुछ की जानकारी हमने ऊपर पात्रता सेक्‍शन में दी है। अधिक जानकारी के उक्‍त सेक्‍शन को अवश्‍य पढ़ें।

क्‍या पीएम श्री स्‍कूल योजना 2022 के तहत जवाहर नवोदय व केंद्रीय विद्धालयों का चयन इस योजना के  तहत किया जा सकता है?

जी हां, यदि जवाहर नवोदय विद्धालयों व केंद्रीय विद्धालयों को अपग्रेडेशन की जरूरत महसूस हो रही है, तो कुछ नियमों के तहत वह भी इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।

क्‍या अपग्रेडेट स्‍कूल अन्‍य सरकारी स्‍कूलों को गुणवत्‍ता युक्‍त व नई टेक्‍नोलॉजी युक्‍त शिक्षा के लिये प्रेरित कर सकते है?

जी हां, नियम के मुताबिक जो स्‍कूल अपग्रेड हो जायेंगें वह अन्‍य सरकारी स्‍कूलों के लिये मेंटोर की भूमिका भी निभायेंगें। जिससे जो सरकारी स्‍कूल इस योजना से वंचित रह गये हैं, उन्‍हें भी आधुनिक शिक्षा प्रदान करने के लिये प्रेरित किया जा सकेगा।

पीएम श्री स्‍कूल योजना के लिये अंतिम शब्‍द

आज की हमारी पोस्‍ट PM SHRI SCHOOLS Yojana Eligibility Kya Hai यदि आप PM SHRI SCHEME से संबंधित कोई अन्‍य प्रश्‍न पूछना चाहते हैं तो आप हमसें कमेंट बॉक्‍स के जरिये पूछ सकते हैं।

Spread the love

Leave a Comment